Sunday, March 22, 2009

लड़की होने का फायदा!


एक लड़की ने दूसरी से पूछा-तू अगले जन्म में लड़की होना चाहेगी या लड़का? जवाब मिला-लड़का। हम पर कितनी बंदिशें हैं। बाहर ना जाओ, ये ना पहनो, ये ना खाओ, ज्यादा मत हंसो, कम बोलो...उन्हें कोई कुछ नहीं कहता। लड़का होने में बहुत मजा आता होगा ना?
इन बातों को सुनकर या पढ़कर एक बार चाहे हंसी आए पर ये छोटी-छोटी बातें गहरा दर्द लिए हैं।
लड़की होने का दर्द जो भी है पर कुछ रोज पहले मेरी क्लासमेट्स ने लड़की होने के खूब सारे फायदे गिना डाले। इन्हें सुनकर एक बार तो खुद पर तरस आने लगा।
फाइनल एग्जाम के लिए हमें प्रेक्टिकल तैयार करना था। लास्ट डेट थी 28 फरवरी। रातें जाग-जागकर ढाई-तीन महीने की मेहनत से अपन ने 25 फरवरी तक फाइल तैयार कर ली। राहत की सांस लेते हुए अपनी क्लास की लड़कियों से पूछा तो उनमें से ज्यादातर ने फाइल अभी शुरू भी नहीं की थी। हैरान था कि जिस काम में मुझे ढाई-तीन महीने लग गए, वह ये लड़कियां दो दिन में कैसे कर लेंगी। उन्हीं से पूछा तो पहला जवाब मिला-बॉयफ्रेंड को जिम्मेदारी सौंप दी है, वह किस दिन काम आएगा? कुछ भी करेगा पर 27 शाम तक फाइल तैयार होकर ला देगा।
दूसरी क्लासमेट का जवाब था-कैंटीन के कंप्यूटर सैंटर वाले से बात कर ली है। उसने टाइपिंग शुरू कर दी है। कल तक हो जाएगा।
मैं एक बार फिर हैरान। उसी कंप्यूटर वाले ने हताभर पहले क्लास के लड़कों को यह कहकर मना कर दिया था कि काम ज्यादा है, वो फाइलें तैयार नहीं कर पाएगा।
क्लासमेट को बताया तो जवाब मिला-तुम लड़कों को कंप्यूटर वाला मना कर सकता है पर मैं कहूं तो दो-चार फाइलें और तैयार करवा लाऊं।
वो कैसे?
लड़की होने का कुछ फायदा तो उठाना ही पड़ता है। जरा-सा हंसकर हिल-डुल कर बात करूंगी। वो समझेगा कि मुझ पर लट्टू हो रही है। काम हो जाएगा। उसके बाद तू कौन और मैं कौन? अपना काम बनता, ऐसी-तैसी करवाए जनता।
मैं बोला-देख, लड़की होने का यूं फायदा उठाना गलत बात है।
जवाब मिला-कुछ गलत नहीं है। कोई उल्टा काम थोड़े ना किया है। अगर हमारे हंसने, हिलने-डुलने से लड़के ज्यादा मेहनती और ज्यादा बेवकूफ बनते हैं तो फिर हंसने में कमी क्यों रखें।
मैं क्या बोलता? बात में दम तो है। लड़कियों के हंसनेभर से लड़के बेवकूफ बनते हैं तो गलती लड़कों की ही है। इसे इमोशनल अत्याचार कहें या कुछ और...।

9 comments:

राजीव जैन Rajeev Jain said...

लड़की होने के कुछ गम भी हैं, पर भाई फायदे जबरदस्त लगे, पर तुमने कितनी फाइल बनाई?

Dipti said...

फायदा उठाया किसका जा रहा है इस पर भी गौर करें। बॉय फ्रे़न्ड और कम्प्यूटर ऑपरेटर दोनों ही लड़के हैं...
राजीव ने जो सवाल पूछा है वो मेरा भी है।

संदीप शर्मा Sandeep sharma said...

लड़कियां कुछ भी कहकर कुछ भी करवा सकती हैं... मांगने "लिप्टन" की चाय जाती हैं और दे न्योता आती हैं.... बनारसी कवी ने कहा है-

आजकल की लड़कीन की, क्या कहिये वाह...
पूछत दुकन्दार से, है लिपटन की चाह...

Science Bloggers Association said...

मैं चुप रहूंगा, पता नहीं कौन मेरा कमेण्‍ट का बुरा मान जाए और फिर बैठे ठाले एक और बवाल

-----------
तस्‍लीम
साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन

राममोहन said...

लड़की होने के फायदे तो बहुत हैं भाई पर उनको फायदे की गोली देने वाला लड़का है
बहुत अच्छा।

pari said...

फायदा तो है श्रीमान पर लड़को ने आपका लेख पढ़कर थोडी अक्ल लगा ली तो हमारा फायदा कुछ कम हो सकता है

Harkirat Haqeer said...

लड़कियों के हंसनेभर से लड़के बेवकूफ बनते हैं तो गलती लड़कों की ही है। इसे इमोशनल अत्याचार कहें या कुछ और...।

हूँ.....तो जरा बच के रहिएगा जनाब....!!

Babli said...

बहुत ही शानदार लिखा है आपने! तस्वीर भी बढ़िया लगायी है!

Creative Satish said...

फ्री ड्रिंक्स , डिनर , फ्री में फिल्मे भी देख लेती है और वो मर्दों वाली ड्रेस भी पहन लेती है। और लिफ्ट भी कितनी आसानी से मिल जाता है ।

फ्री ड्रिंक्स , डिनर , फ्री में फिल्मे भी देख लेती है और वो मर्दों वाली ड्रेस भी पहन लेती है। और लिफ्ट भी कितनी आसानी से मिल जाता है ।

पर लड़के होने के अपने फायदे है जनाब
....